भ्रष्टाचारी चुप है, अब जनता बोलेगी – Kapil Mishra

कल स्वास्थ्य विभाग से जुड़े तीन गंभीर मामले देश के सामने
रखे। 300 करोड़ से अधिक का दवाइयों से जुड़ा मामला जिसमे सीधे तौर पर अरविंद केजरीवाल और सत्येंद्र जैन के शामिल होने के सबूत दिए। एम्बुलेंस घोटाले के बिल तक दिखाए। ट्रांसफर पोस्टिंग घोटाले के details दिए।

जब सारे सबूत सामने रख दिये तो जवाब में आई चुप्पी। अरविंद जी चुप, मनीष जी चुप, सत्येंद्र जैन गायब।

विदेशी दौरें छिपाए जा रहे हैं, एक के बाद एक घोटाले खुल रहे हैं। पंजाब में गुरप्रीत घुग्गी महिलाओं के शोषण की शिकायत पर पार्टी छोड़ कर जा रहे हैं। मुख्यमंत्री के सगे संबंधियों के यहां छापे पड़ रहे है, फ़र्ज़ी बिल आ रहे है। जिन कंपनियों के खिलाफ सरकार जांच कर रही है उन्ही के डायरेक्टर्स के साथ नेता विदेशो की यात्रा कर रहे हैं।

पर सबके जवाब में केवल चुप्पी।

इन्हें लगता है कपिल मिश्रा कितने दिन बोलेगा। कितने दिन अकेला लड़ेगा।

ये कोई मेरी व्यक्तिगत लड़ाई नहीं है। ये कपिल मिश्रा और अरविंद केजरीवाल की लड़ाई नहीं हैं।

ये लड़ाई न क्रोध में है ना प्रतिशोध में। ये भ्रष्टाचार और सदाचार की जंग हैं।

अरविंद केजरीवाल के हवाला और काले धन के सबूत तथ्यों व documents के साथ देश के सामने रखे जाते है और वो फिर भी चुप।

याद कीजिये असीम अहमद खान के खिलाफ केवल एक ऑडियो क्लिप आते ही 2 मिनट में उन्हें हटा दिया गया था। हम सब कितने खुश हुए की जरा सा भ्रष्टाचार का दाग आते ही AK ने मंत्री को हटा दिया।

आज खुद अरविंद केजरीवाल जी के खिलाफ व सत्येंद्र जैन के खिलाफ, असीम अहमद खान की तुलना में 1000 गुना ज्यादा सबूत व डाक्यूमेंट्स हैं।

पर असीम अहमद खान के लिए अलग नियम, अरविंद केजरीवाल और सत्येंद्र के लिए अलग नियम।

आज ईमानदारी की परिभाषा बदल चुकी हैं। आज जो जेल से बाहर है वो सब ईमानदार हैं।

आगे का रास्ता क्या? ऐसे ही लूटने दे दिल्ली को। वो चुप है तो दिल्ली भी चुप हो जाये क्या? दिल्ली की जनता की ताकत को भूल गए है अरविंद केजरीवाल।

मैंने कई साथियों से चर्चा की। अन्ना आंदोलन व इंडिया अगेंस्ट करप्शन के कई लोग इकट्ठा हो रहे हैं।

मिस कॉल करने की अपील के बाद से लगभग 1 लाख साथी जुड़ चुके हैं।

भ्रष्टाचारी अब अहंकारी भी बन चुके हैं। घोटालों और भ्रष्टाचार के सबूतों पर बेशर्मी से हंसते है, मजाक करते हैं। बेनामी संपत्ति, हवाला व घोटालेबाजों को ईमानदारी के सर्टिफिकेट बांटे जा रहे हैं।

अरविंद केजरीवाल चुप होकर बैठे हैं। पैसा खा चुके है। अब चुप।

जब जब भ्रष्टाचारी चुप होते हैं, तब तब जनता बोलती हैं। अब दिल्ली की जनता बोलेगी।

मैंने निर्णय लिया है, इनके सारे घोटालों के, हवाला के, काले धन के सारे सबूत अब जनता के सामने रखूंगा। दवाइयों के घोटालों के, एम्बुलेंस के फ़र्ज़ी बिल सब जनता को दिखाऊंगा।

अगले शनिवार को, 3 जून को शाम 5 बजे Constitution Club मे एक एक घोटालें के document की प्रदर्शनी लगाई जाएगी।

सभी आंदोलनकारियों से, देशभक्तो से, दिल्ली से प्यार करने वालों से अपील आप सब आइये 3 जून को शाम 5 बजे constitution club आइये। अपनी आंखों से देखिये एक एक सबूत को।

हवाला और काले धन से अरविंद केजरीवाल के क्या रिश्ते है सबके सामने रखे जाएंगे।

और फिर वहीं सबके सामने ये निर्णय लिया जाए कि आगे क्या करना है। अविश्वास प्रस्ताव या Right To Recall या Refrendum ।

जनता का आंदोलन, जनता की बनाई पार्टी, भविष्य का निर्णय भी जनता ही लेगी।

Its Time for “INDIA AGAINST CORRUPTION 2.0”

3 जून, शनिवार शाम 5 बजे Constitution Club – अब जनता बोलेगी।

कपिल मिश्रा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *