BLOG POST BY KAPIL MISHRA

31 तारीख को विधानसभा में मेरा गला दबाने की कोशिश होती है। एक विधायक कस कर और देर तक मेरा गला दबाये रखते है और अन्य कुछ विधायक मुझ पर हमले करते रहते है।

सदन में मुख्यमंत्री व उपमुख्यमंत्री की मौजूदगी में यह सब होता है। उपमुख्यमंत्री तो कुछ विधायको को इशारा तक करते है मेरी तरफ लपकने का। मुख्यमंत्री लगातार मुस्कुराते रहते है। बैठे रहते है।

मैंने सोचा था अरविंद केजरीवाल इस घटना के बारे में कुछ कहेंगे। बोलेंगे की जो हुआ वो गलत था, विधायको के व्यवहार की भर्त्सना करेंगे। अगर उस वक्त अरविंद केजरीवाल सिर्फ अपनी सीट पर खड़े भी हो जाते तो हिंसा नही हो सकती थी। अपने विधायको को मना कर सकते थे।

आज तीन दिन के बाद भी अरविंद केजरीवाल ने न विधायको के खिलाफ कोई कार्यवाही की और न ही इस घटना को गलत कहा। जिन विधायको ने हमला किया उनमे से एक के साथ कल सार्वजनिक तौर पर घूम कर एक तरह से शाबाशी भी दी।

इस पूरे मामले में अरविंद केजरीवाल जी आपने दिखाया कि आपका दिल बहुत छोटा है और नीयत खराब।

आज 11 बजे मैं civil lines थाने में किस तरह विधानसभा के अंदर मुझे जान से मारने की कोशिश की गई। कैसे विधायक मदनलाल द्वारा मेरा गला दबाया गया और देर तक दबाये रखा गया। विधायक जरनैल सिंह द्वारा और अमानतुल्ला द्वारा लगातार हमले किये गए और कैसे मनीष सिसोदिया द्वारा विधायको को इशारा किया गया, इस पूरे मामले की FIR दर्ज करवाऊंगा।

अब इसका न्याय , न्यायालय में ही किया जाएगा।

और हां, घोटालो का पर्दाफाश करता रहूंगा, न डरूंगा न भ्रष्टाचार पर चुप रहूंगा।

कपिल मिश्रा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *