नशा तस्करों को रोकने के लिए पंजाब कैबिनेट ने इनके लिए फांसी का प्रस्ताव पास कर दिया है. पंजाब कैबिनेट ने नशा तस्करों के लिए मृत्यु दंड के प्रावधान का प्रस्ताव पारित करके केंद्र सरकार को भेजा है. पंजाब में ड्रग्स की समस्या से निजात न मिलने के कारण कैबिनेट ने ये बड़ा कदम उठाया है. पंजाब की राजधानी चंडीगढ़ में पंजाब सिविल सचिवालय में हुई पंजाब मंत्रिमंडल की बैठक में ये फैसला लिया गया जिसमें सीएम अमरिंदर सिंह के साथ कई पुलिस अधिकारी भी शामिल थे.

 

इससे पहले पंजाब सरकार ने एक और फैसला लिया था जिससे पंजाब में ड्रग्स की बढ़ती समस्या को कम करने में कुछ मदद मिलने की उम्मीद है. 10 मई को पंजाब सरकार ने हथियार का लाइसेंस लेने के लिए लोगो को डोप टेस्ट करवाना जरूरी कर दिया था. डोप टेस्ट से ये जानने की कोशिश की जाएगी कि हथियार का लाइसेंस लेने वाला युवक कहीं कोई नशा तो नहीं करता है. अगर डोप टेस्ट में नशे की मात्रा पाई गई तो पंजाब में जीवन भर हथियार के लाइसेंस से वंचित रहना पड़ेगा.

 

दरअसल पंजाब में ड्रग्स की समस्या बेहद गंभीर है और पंजाब के युवाओं की बेहद बड़ी तादाद नशे की गिरफ्त में है. इसी मुद्दे को लेकर पंजाब विधानसभा चुनाव में बीजेपी-शिरोमणि अकाली दल को हराकार कांग्रेस पार्टी ने सत्ता हासिल की थी. पंजाब में ड्रग्स की समस्या को लेकर कई बार वहां विरोध प्रदर्शन भी किए जा चुके हैं लेकिन इस समस्या के पूरी तरह खात्मे को लेकर अभी भी खास सफलता मिलती नहीं दिख रही है.

Source – ABPNews

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *