यार थोड़ी और साफ सफाई करवा लो – Sweksha

जब मिडिल स्कूल में पहुँचा तब उस स्कूल में एक टीचर का खौफ़ था ….’मिस्त्री सर’ । मिडिल स्कूल मतलब पाँचवीं से आठवीं कक्षा तक । गणित के टीचर थे और हद से ज्यादा सख्त । एक भी गलती होने पर हाथ पर बाँस की छड़ी पड़ती थी । स्कूल में ही बड़ा सा बगीचा था , उसी में बाँस के बहुत सारे पेड़(झाड़ियाँ ) भी लगे हुए थे । जब किसी को मार पड़नी होती तो वो उसी लड़के को भेजते थे …’ जा बगीचे में से बाँस की हरी और पतली छड़ी तोड़कर ले आ ‘ ।

एक बार आठवीं क्लास के कुछ बच्चों ने (जो दो-ढाई साल से मार खा रहे थे ) जाकर प्रिन्सिपल से शिकायत कर दी कि .. ‘मिस्त्री सर बाँस की पतली छड़ी से हाथ पर मारते है , बहुत जोर से लगती है ‘।

प्रिन्सिपल ने तुरंत एक्शन लिया और एक लड़के से बोला .. ‘जा बगीचे से वैसी ही एक छड़ी तोड़कर ला जो मिस्त्रीजी मंगवाते है ‘ । छड़ी लायी गयी । प्रिन्सिपल ने तसल्ली से चेक कर बोला ..’इतनी हरी और पतली छड़ी से हाथ पर पड़ेगी तो जोर से लगेगी ही , जा इससे थोड़ी मोटी छड़ी तोड़कर ला और मिस्त्री सर को बुलाकर ला’ ।

छड़ी और सर दोनो आ गये तो प्रिन्सिपल ने बोला ..’ मिस्त्री जी पतली छड़ी से मारना बंद करो , इससे जोर से लगती है । छड़ी कम से कम इतनी मोटी होना चाहिये और बच्चों तुम लोग पढ़ाई पर ध्यान दो क्योंकि आज से छड़ी बदली है ..मारना बंद नही हुआ है .😂

जज साब… इंडिया के जेल बहुत गंदे है , मैं वहाँ नही रह सकता ! अब जज ने भारत सरकार से मुम्बई की ‘आर्थर रोड़ जेल′ का विडिओ माँगा है ।

विडिओ देखने के बाद जज ने यही बोलना है ..’ यार थोड़ी और साफ सफाई करवा लो ..मिस्टर माल्या को वहाँ कोई तकलीफ नही होनी चाहिये ‘ । 😂😂
Ashish Retarekar

Post link – Facebook

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *