“कठोर किंतु सत्य” Internet Viral Story

On

*1-* माचिस किसी दूसरी चीज को जलाने से पहले खुद को जलाती हैं..! *गुस्सा* भी एक माचिस की तरह है..! यह दुसरो को बरबाद करने से पहले खुद को बरबाद करता है… *2-* आज का कठोर व कङवा सत्य !! चार *रिश्तेदार*…

शर्मा जी, आपकी भाग्य रेखाएँ कहती है कि

On

एक शहर में एक प्रसिद्ध बनारसी विद्वान् “ज्योतिषी” का आगमन हुआ..!! ऐसा माना जाता था कि उनकी वाणी में सरस्वती विराजमान है और वे जो भी बताते है वह 100% सच ही होता है। . 501/- रुपये देते हुए “शर्मा जी” ने…

एक अनोखा तलाक

On

हुआ यों कि पति ने पत्नी को किसी बात पर तीन थप्पड़ जड़ दिए, पत्नी ने इसके जवाब में अपना सैंडिल पति की तरफ़ फेंका, सैंडिल का एक सिरा पति के सिर को छूता हुआ निकल गया। मामला रफा-दफा हो भी जाता,…

लड़किया मौन होकर सब सह जाती है

On

मेरे साथ आज की एक घटित घटना ने यह पोस्ट लिखने पर विवश किया है-: आज मैं लखनऊ में निशातगंज से चिनहट के लिये एक विक्रम(10 सीटर) टैम्पों में यात्रा कर रहा थां।यूं तो निशातगंज से चिनहट का सफर में लगभग आधे…

एक गांव मे एक गरीब किसान रहता था

On

मेरे अंडर एक तमिल लड़का काम करता है, सुरेन्द्र..!! दो साल पहले जब मै यहां आया तो, उसको हिंदी मे अक्सर एक लाईन बोलते सुनता था..!! “एक गांव मे एक गरीब किसान रहता था” बस इतना ही था, उसका हिंदी ज्ञान..!! कालांतर…

कोई लडका नजर मे हो तो बताइएगा

On

कोई लडका नजर मे हो तो बताइएगा एक बार जरूर पढे आप भी सोचने को…… एक पार्क मे दो बुजुर्ग बैठे बातें कर रहे थे । *पहला*- मेरी एक पोती है शादी के लायक है BE किया है ,job करती है ,कद…

यही सब है जो मैं अपने मैनेजर में देखना चाहता हूं

On

पढ़ाई पूरी करने के बाद एक छात्र किसी बड़ी कंपनी में नौकरी पाने की चाह में इंटरव्यू देने के लिए पहुंचा…. छात्र ने बड़ी आसानी से पहला इंटरव्यू पास कर लिया… अब फाइनल इंटरव्यू कंपनी के डायरेक्टर को लेना था… और डायरेक्टर…

एक बेटा ऐसा भी

On

माँ, मुझे कुछ महीने के लिये विदेश जाना पड़ रहा है। तेरे रहने का इन्तजाम मैंने करा दिया है।” तक़रीबन 32 साल के , अविवाहित डॉक्टर सुदीप ने देर रात घर में घुसते ही कहा। ” बेटा, तेरा विदेश जाना ज़रूरी है…

दिल्ली वालों से ही सीख लें

On

काफी पहले की बात है उन दिनों मैं दिल्ली में था।2 जून के दोपहर में पैदल दक्षिणी दिल्ली मे किसी रोड की ओर बढ़ रहा था।उन दिनों इतने पैसे नहीं थे सो पैदल चला जा रहा था। दूर-दूर तक कंक्रीट का जंगल…