अपने नाम की पर्चियां ढूंढे

On

कैसे रहें खुश एक बार एक अध्यापक कक्षा में पढ़ा रहे थे अचानक ही उन्होंने बच्चों की एक छोटी सी परीक्षा लेने की सोची । अध्यापक ने सब बच्चों से कहा कि सब लोग अपने अपने नाम की एक पर्ची बनायें ।…

क्या कभी किसी को कुछ देते भी हो ?

On

एक भिखारी था ! रेल सफ़र में भीख़ माँगने के दौरान एक सूट बूट पहने सेठ जी उसे दिखे। उसने सोचा कि यह व्यक्ति बहुत अमीर लगता है, इससे भीख़ माँगने पर यह मुझे जरूर अच्छे पैसे देगा। वह उस सेठ से…

मेरे अजनबी हमसफ़र

On

जरूर से जरूर #पढ़ना:- _______ वो ट्रेन के रिजर्वेशन के डब्बे में बाथरूम के तरफ वाली सीट पर बैठी थी… उसके चेहरे से पता चल रहा था कि थोड़ी सी घबराहट है उसके दिल में कि कहीं टीटी ने आकर पकड़ लिया तो..कुछ…

नाश्ते की टेबल पर अध्यात्म चर्चा

On

(मां सुबह से शिवपूजन की तैयारी में व्यस्त है, बेटा कॉलेज और पिता ऑफिस जा रहा है। मां मेरा नाश्ता दे दीजिए और आपको भी तो हमारे साथ ही ऑफिस निकलना है फिर देर क्यों कर रही हो।) मां – ये लो…

बेटा, क्या तुम्हें पता है

On

एक कहानी ऐसी भी ============ एक बार पिता और पुत्र जलमार्ग से यात्रा कर रहे थे, और दोनों रास्ता भटक गये। वे दोनों एक जगह पहुँचे, जहाँ दो टापू आस-पास थे। पिता ने पुत्र से कहा, अब लगता है हम दोनों का…

कौन है सचमुच का भिखारी

On

अपनी नई नवेली दुल्हन प्रिया को शादी के दूसरे दिन ही दहेज मे मिली नई चमाचमाती गाड़ी से शाम को रवि लॉन्ग ड्राइव पर लेकर निकला ! गाड़ी बहुत तेज भगा रहा था , प्रिया ने उसे ऐसा करने से मना किया…

इसलिये बुखार मुझे पसंद है

On

फीवर होना भी कभी-कभी सुकून देता है . सोये रहो थर्मामीटर का सहारा लेकर , कोई टोकने वाला नही होता. दलिया-खिचड़ी भी राजभोग से कम नही लगते. चार साल बाद ‘प्रॉपर फीवर’ हुआ है. कल शाम से मामला 102 और 104 डिग्री…

डाॅ साहब ने कहा है

On

लगभग दस साल का बालक राधा का गेट बजा रहा है। राधा ने बाहर आकर पूंछा “क्या है ? ” “आंटी जी क्या मैं आपका गार्डन साफ कर दूं ?” “नहीं, हमें नहीं करवाना।” हाथ जोड़ते हुए दयनीय स्वर में “प्लीज आंटी…