Writer – Sweksha

“जल रहा है आदमी “-ज्ञानेश्वर उपाध्याय जी

On

रक्त पिपासु बेरहम दिल हो गया है – आदमी बिन धुंआ और आग का जल रहा हर आदमी मजहब, लालच, स्वार्थ, पर मर रहा हर आदमी जिंदगी मुश्किल बनाता जा रहा हर आदमी धैर्य, शक्ति, आसवान भूल गया आदमी कर्म योग धर्म…

मोदी की किस्मत में लिखा है बहुत से काम पहली बार करना

On

मोदी की किस्मत में लिखा है बहुत से काम पहली बार करना — इजराइल जाने वाला भी भारत का पहला पी एम् होगा — अनेकों काम नरेंद्र मोदी ने देश में पहली बार किये हैं –GST भी लांच करना उसकी किस्मत में…

छोरा लंडन गया है आज ब्रिटीश रॉयल आर्मी की ट्रेनींग के लिये

On

ईंग्लैंड मे मेरा एक कलीग-मित्र था, “डेविड तुरुंगा”..!! मूलत: केन्या का रहने वाला..!! उसकी पत्नी नर्स थी और ये डिपेंडेंट वीजा पर..!!! मित्रता ऐसी हो गई थी कि हर बात, खुशी, दुख तकलीफ मुझसे शेयर करता..!! मुझे, “ब्रदर फ्रॉम अनादर मदर” कहता..!!…

मूलाधार पर हमले

On

‘द डविंसी कोड, जब वह 2006 मे रिलीज हूई तो हंगामा मच गया था।भारत समेत दुनियाँ के सारे दुनियाँ के सभी ईसाई मुल्को ने फिल्म पर प्रतिबंध लगा दिया था।इसे रोमन कैथोलिक चर्च पर हमले के रूप में देखा गया।सभी ईसाई संप्रदायों-देशो…

मकड़जाल- देश की सभी समस्याओं की जड़

On

आपने देखा होगा कि मकड़ी जाला बनाती है।वह जाल कई उद्देश्य से बनाया जाता है। अपने ही प्रोटीन से बुना गया वह पतला सा जाला शिकार और घर के उद्देश्य से बनाया जाता है।एक ऐसा घर जिसमे कोई भटकता हुआ कीट उधर…