समस्याओं का बोझ

एक प्रोफेसर कक्षा में दाखिल हुए। उनके हाथ में पानी से भरा एक गिलास था। उन्होंने उसे बच्चों को दिखाते हुए पूछा, “यह क्या है?” छात्रों ने उत्तर दिया, “गिलास।”…
समस्याओं का बोझRead More

जीवन संगिनी – धर्म पत्नी की विदाई

अगर पत्नी है तो दुनिया में सब कुछ है। राजा की तरह जीने और आज दुनिया में अपना सिर ऊंचा रखने के लिए अपनी पत्नी का शुक्रिया। आपका फुला-फला परिवार…
जीवन संगिनी – धर्म पत्नी की विदाईRead More

लग गई माँ की बीमारी तुम्हें भी?

*अपनों का त्याग-भावना की ओट में झूठ* "नानी! मैं एक कुल्फी और ले लूं, प्लीज़" चीकू ने फ्रिज खोलते हुए पूछा। "चीकू! तुम खा चुके हो ना? गलत बात, वो…
लग गई माँ की बीमारी तुम्हें भी?Read More

संसार में दो प्रकार के पेड़ पौधे होते हैं…

संसार में दो प्रकार के पेड़ पौधे होते हैं... प्रथम - अपना फल स्वयं दे देते हैं... जैसे - आम, अमरुद, केला इत्यादि । द्वितीय - अपना फल छिपाकर रखते…
संसार में दो प्रकार के पेड़ पौधे होते हैं…Read More

क्या लिखूँॽ कैसे लिखूं ? किस तरह लिखूं?

  _सोचता हूँ कि क्या लिखूँॽ कैसे लिखूं ?और फिर किस तरह लिखूं?_ वैसे सोचने को बहुत कुछ है, परन्तु आज के भौतिकता प्रधान युग में भला आदमी अपनी रोजी…
क्या लिखूँॽ कैसे लिखूं ? किस तरह लिखूं?Read More

क्या सच मे यह हम हैं?

पीएम, सीएम, सांसद, विधायक,पार्षद सबको गाली दे लीजिए लेकिन , यह जो 700- 800 का ऑक्सीमीटर 3000+ में बेच रहे यह हम हैं! जो ऑक्सीजन की कालाबाजारी कर रहे यह…
क्या सच मे यह हम हैं?Read More

जी हाँ ! पत्रकार। बिकाऊ नहीं राष्ट्रवादी – रोहित सरदाना जी को मेरी श्रद्धांजलि के रूप में समर्पित ये छोटी सी कविता

जाने-माने राष्ट्रवादी पत्रकार रोहित सरदाना जी को मेरी श्रद्धांजलि के रूप में समर्पित ये छोटी सी कविता💐💐🙏🙏 ............................................................. जी हाँ ! पत्रकार। बिकाऊ नहीं राष्ट्रवादी, पूरी तरह से विशुद्ध राष्ट्रवादी।…
जी हाँ ! पत्रकार। बिकाऊ नहीं राष्ट्रवादी – रोहित सरदाना जी को मेरी श्रद्धांजलि के रूप में समर्पित ये छोटी सी कविताRead More

कितनी रकम?

*आज कोरोना संक्रमण से एक 93 साल का बूढ़ा व्यक्ति ठीक हुआ और जब वह अस्पताल से डिस्चार्ज होने लगा, तब उसे अस्पताल के स्टॉफ ने एक दिन के वेंटिलेटर,…
कितनी रकम?Read More

नमस्‍ते कितना वैज्ञानिक

  विश्‍व के अधिकांश देशों में जहां लोग एक दूसरे से मिलने पर हैंडशेक करते हैं वहीं भारत में अभी भी लोग नमस्कार का ही प्रयोग करते हैं। नमस्कार शब्द…
नमस्‍ते कितना वैज्ञानिकRead More