महिलाओं को क्यों नहीं मिलता ?

जूठे बरतनों के ढेर से घबराकर पत्नी बुदबुदाई, “हे ईश्वर ! यह #अलादिनकाजादुई_चिराग हमेशा पुरुषों को ही क्यूं मिलता है…. महिलाओं को क्यों नहीं मिलता ?.? आज मेरे पास भी कोई #जिन्न होता तो मेरा भी हाथ बंटा देता।”

पत्नी की ये मासूम पुकार सुन #विष्णुदेव स्वयं प्रकट हुए और बोले, ::- पुत्री…. “नियम के अनुसार एक महिला को एक बार में एक ही जिन्न मिल सकता है, और हमारे रिकॉर्ड के अनुसार तुम्हारी #शादी हो चुकी है,और तुम्हें #तुम्हारा_जिन्न मिल चुका है।
उसे अभी-अभी तुमने सब्जी मंडी भेजा है, रास्ते में टेलर से तुम्हारी साडी लेते हुए, किराने की उधारी चुकाकर , याद से तुम्हारे लिये झंडु बाम जेब में रखकर ,वो Office जायेगा……और आते आते शाम को तेरे लिए मूंग की दाल भी लाएगा..!!
पुत्री तुम्हारा जिन्न भले ही थोड़ा #टाइम_खाऊ है, मगर चिराग वाले जिन्न से ज्यादा #टिकाऊ है।”
😂😂😂😂

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating / 5. Vote count:

As you found this post useful...

Follow us on social media!

We are sorry that this post was not useful for you!

Let us improve this post!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: