कर्मफल भोगना पड़ता है

पेड़ में फल देखा आंख ने,अब फल के पास गया पैर, और फल तोड़े हाँथ ने, खाया मुह ने,, लेकिन ओ फल रखा कौन पेट ने,,

मतलब – 
जिसने देखा ओ गया नही,
जो गया उसने तोडा नही,
जिसने तोडा उसने खाया नही,
जिसने खाया उसने रखा नही,,, #अब माली की नजर पड़ी तो डंडा बरसाए पीठ पर,, 
पीठ ने कहा, हाय मेरा क्या कसूर ।

अब जब डंडा पड़ा पीठ पर तो रोये कौन “आंख”

#अरे इन्ही आँखों ने ही तो देखा था,,, तो आखिर

#कर्मफल_भोगना_पड़ता_है

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating / 5. Vote count:

As you found this post useful...

Follow us on social media!

We are sorry that this post was not useful for you!

Let us improve this post!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: