एक विद्वान साधु

एक विद्वान साधु थे जो दुनियादारी से दूर रहते थे। वह अपनी ईमानदारी,सेवा तथा ज्ञान के लिए प्रसिद्ध थे। एक बार वह पानी के जहाज से लंबी यात्रा पर निकले। उन्होंने यात्रा में खर्च के लिए पर्याप्त धन तथा एक हीरा संभाल के रख लिया । ये हीरा किसी राजा ने उन्हें उनकी ईमानदारी से … Read more

तुम उजड़ जाओ…और तुम बसे रहो

सफर में सामने की बर्थ पर एक सरदारजी बैठे थे। सरदारजी से दोस्ती हुई, विभिन्न मुद्दों पर बातें होने लगीं, राजनीति, समाज, राज्य होते हुए बात धर्म तक पहुंची। बातचीत में सरदारजी ने गुरुनानक देव से संबंधित एक रोचक कहानी सुनाई, जो अत्यंत प्रेरणादायी होने के साथ गहरे अर्थों वाली है। कहानी कुछ इस तरह … Read more

जब दुनिया में आपदा आयी थी तो केन्या ने कुछ नही किया

केन्या के पास मेडिकल ऑक्सीजन नही थी, रेमेडेसिविर इंजेक्शन नही थे … अनाज था … उसने अनाज ही भेज दिया । वजह सिर्फ ये थे कि इस मुश्किल घड़ी में वो भारत के साथ खड़ा रहना चाहता था… ऑक्सीजन नही तो अनाज ही सही । कल को जब इतिहास लिखा जायेगा तो कोई ये तो … Read more

देश की मौजूदा हालत को समर्पित

एक दो बड़े झटकों के साथ तेज रफ़्तार बस रुक गयी सभी यात्री ड्राइवर पर भड़कने लगे ! पर जब पसीना पसीना ड्राइवर ने बताया कि ब्रेक फेल हो गए थे, एक किलोमीटर पहले किसी तरह सँभालते हुए यहाँ पर रोकना ठीक लगा और ……सब बच गए ! तो सब ड्राइवर की भूरी भूरी प्रशंसा … Read more

पहले के दामाद vs अभी के दामाद

पहले के जमाने में दामाद की पूछ परख और स्वागत का तरीका भी अलग ही ढंग का होता था। जब कभी दामाद जी ससुराल जा धमकते, अफरातरफी का माहौल बन जाता था। यदि पूर्व सूचना पर आगमन होता तो क्या कहने। एक दो आदमी स्टेशन आते एक सूटकेस थामता, पहले से तय किये रिक्शे में … Read more

कान हैं हम

*👂 कान हैं हम👂* मैं कान हूँ, हम दो हैं. दोनों जुड़वां भाई… लेकिन……….. हमारी किस्मत ही ऐसी है कि आज तक हमने एक दूसरे को देखा तक नहीं पता नहीं कौन से श्राप के कारण हमें विपरित दिशा में चिपका कर भेजा गया है दु:ख सिर्फ इतना ही नहीं है कि हमें जिम्मेदारी सिर्फ … Read more

पत्नी बहुत ही धीरज से बोली

एक भाई ने अपनी पत्नी को सुबह 9 बजे से बैंक की लाइन में खड़ा करवा दिया और खुद office चला गया! शाम को जब वापस आया तो पत्नी बोली:- धूप में खड़े-खड़े दो बजे बैंक के दरवाजे में घुसी और तीन बजे कैशियर के सामने पहुँची, मुझे खड़ा कर वो चाय पीने चला गया..!! … Read more

कर्ज वाली लक्ष्मी

एक 15 साल का भाई अपने पापा से कहा “पापा पापा दीदी के होने वाले ससुर और सास कल आ रहे है” अभी जीजाजी ने फोन पर बताया। दीदी मतलब उसकी बड़ी बहन की सगाई कुछ दिन पहले एक अच्छे घर में तय हुई थी। दीनदयाल जी पहले से ही उदास बैठे थे धीरे से … Read more

“वो” देख रहा है

एक दिन सुबह सुबह दरवाजे की घंटी बजी । दरवाजा खोला तो देखा एक आकर्षक कद- काठी का व्यक्ति चेहरे पे प्यारी सी मुस्कान लिए खड़ा है ।* *मैंने कहा, “जी कहिए..”* *तो उसने कहा,* *अच्छा जी, आप तो रोज़ हमारी ही गुहार लगाते थे,* *मैंने कहा* *”माफ कीजिये, भाई साहब ! मैंने पहचाना नहीं, … Read more

एक सुबह होगी 😊😊

जब लोगों के कंधों पर ऑक्सीजन सिलेंडर नहीं दफ्तर का बैग होगा, गली में एंबुलेंस नहीं स्कूल की वैन होगी, और भीड़ दवाखानो पर नहीं चाय की दुकानों पर होगी, *एक सुबह होगी ❤❤* जब पेपर के साथ पापा को काढ़ा नहीं चाय मिलेगी, दादाजी बाहर निकल कर बेखौफ पार्क में गोते लगाएंगे, और दादी … Read more