जी हाँ ! पत्रकार। बिकाऊ नहीं राष्ट्रवादी – रोहित सरदाना जी को मेरी श्रद्धांजलि के रूप में समर्पित ये छोटी सी कविता

जाने-माने राष्ट्रवादी पत्रकार रोहित सरदाना जी को मेरी श्रद्धांजलि के रूप में समर्पित ये छोटी सी कविता💐💐🙏🙏 ............................................................. जी हाँ ! पत्रकार। बिकाऊ नहीं राष्ट्रवादी, पूरी तरह से विशुद्ध राष्ट्रवादी।…
जी हाँ ! पत्रकार। बिकाऊ नहीं राष्ट्रवादी – रोहित सरदाना जी को मेरी श्रद्धांजलि के रूप में समर्पित ये छोटी सी कविताRead More