बुद्धिजीवी

बुद्धिजीवी
……………..
बुद्धिजीवी!
जी हाँ! बुद्धिजीवी।
बुद्धिजीवी का मतलब
बुद्धि के बल पर जीने वाला।
ये होते हैं बड़े ही एक्टीव,
पर सेलेक्टिवनेस के साथ।
जब जी चाहा,
हो गए एक्टिव।
नहीं तो शयन मुद्रा में,
चले गए लम्बे विश्राम के लिए।
चाहे शहर की गलियों में,
दंगे-फसाद हों या फिर
रक्तपात हो,आगजनी हो,
लूटपाट हो या मौत का
तांडव ही क्यों न हो?
क्या मजाल है? कि….
कोई इन्हें जगा दे।
इन्हें तो जगना है,
सिर्फ़ अपने च्वॉयस के साथ।
क्योंकि ये होते हैं बड़े सेलेक्टिव
जब इनका जी चाहा तभी,
ये अपनी लेखनी के शब्दजाल में
लपेटते हैं और मिट्टी पलीद,
कर देते हैं उसकी।
भले ही वो बेहद ईमानदार, कर्मनिष्ठ
और कर्त्तव्यनिष्ठ ही क्यों न हो?
जब जी चाहा महिमामंडन कर दी,
उसकी जो इन्हें प्रिय लगे।
चाहे वो कितना ही भ्रष्ट, झूठा,
मक्कार एवं फरेबी ही क्यों न हो?
क्योंकि इन्हें तो बस अपना
च्वॉयस ही सर्वोपरि है।
इसीलिए तो किसी ने…
ठीक ही कहा है।
यही है राइट च्वॉयस बेबी
अहा…….।
—– 17/05/2021

Nagendra Dubey

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *