विश्वास नहीं हो रहा न … ?

हिरणों की दौड़ने की गति 90 किमी प्रति घंटा है । फिर बाघ की गति 60 किमी प्रति घंटा है । विस्वास नहीं हो रहा न … ? फिर भी , बाघ हिरण का शिकार करता है । क्योंकि हिरणों के मन में एक डर होता है कि हम बाघ से कमज़ोर हैं और वही डर उन्हें बार – बार पीछे देखने पर मजबूर करता है …। यह उसकी गति और मनोबल को कम करता है । और उस बाघ का शिकार बन जाता है …. ! यही सच कोरोना का है । कोरोना से कई गुना रोगप्रतिरोधक शक्ति हमारे पास अधिक है । हमारा मनोबल और गति केवल भय के कारण कम हो जाता है ओर बीमार हो जाते है । घबराओ मत ……. !🙏🏻 😷🙏🏻😷🙏🏻😷 अपना और अपने परिवार का ख्याल रखें सुरक्षित रहों !! सकारात्मक सोचे सकारात्मक रहें

Share Post:

About Author

admin

Recommended Posts

No comment yet, add your voice below!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *