गुड़ की मिठास

#गुड़_की_मिठास….🌿🌹🌿 . एक शादी के निमंत्रण पर जाना था, पर मैं जाना नहीं चाहता था। . एक व्यस्त होने का बहाना और दूसरा गांव की शादी में शामिल होने से बचना.. लेक‌िन घर परिवार का दबाव था सो जाना पड़ा। . उस दिन शादी की सुबह मैं काम से बचने के लिए सैर करने के … Read more

फ्यूज बल्ब

शहर में बसे एक क्षेत्र में एक बड़े आईएएस अफसर रहने के लिए आए जो हाल ही में सेवानिवृत्त हुए थे।‌ ये बड़े वाले रिटायर्ड आईएएस अफसर हैरान परेशान से रोज शाम को पास के पार्क में टहलते हुए अन्य लोगों को तिरस्कार भरी नज़रों से देखते और किसी से भी बात नहीं करते थे। … Read more

कारगिल का वो नायक

बीस साल पहले हिमाचल प्रदेश के एक गांव से एक पत्र रक्षा मंत्रालय के पास पहुंचा। लेखक एक स्कूल शिक्षक थे और उनका अनुरोध इस प्रकार था। उन्होंने पूछा, “यदि संभव हो तो, क्या मुझे और मेरी पत्नी को उस स्थान को देखने की अनुमति दी जा सकती है जहां कारगिल युद्ध में हमारे इकलौते … Read more

इंसान का मन चाहता कुछ और है,, बोलता कुछ और है ….???

बहुत साल पहले, एक व्यक्ति मेरे पास आये और बोले कि साहनी जी,, मुझे कुछ ऐसी टेक्निक सिखा दो, जिससे मैं किसी इंसान को पढ़ सकू , जान सकू, कि वो इंसान कैसा है?? क्या है ?? मुझे पता है कि आप लोगो को बहुत जल्दी पढ़ लेते हो ,,, ये कला आप के पास … Read more

बैठने का बाज आदी हो चुका था

बहुत समय पहले की बात है , एक राजा को उपहार में किसी ने बाज के दो बच्चे भेंट किये । वे बड़ी ही अच्छी नस्ल के थे , और राजा ने कभी इससे पहले इतने शानदार बाज नहीं देखे थे। राजा ने उनकी देखभाल के लिए एक अनुभवी आदमी को नियुक्त कर दिया। जब … Read more

परिवार है तो जीवन में हर खुशी, खुशी लगती है

एक पार्क मे दो बुजुर्ग बैठे बातें कर रहे थे…. पहला :- मेरी एक पोती है, शादी के लायक है… BE किया है, नौकरी करती है, कद – 5″2 इंच है.. सुंदर है कोई लडका नजर मे हो तो बताइएगा.. दूसरा :- आपकी पोती को किस तरह का परिवार चाहिए…?? पहला :- कुछ खास नही.. … Read more

ऊपर बैठ जाइए साहब

लस्सी का ऑर्डर देकर हम सब आराम से बैठकर एक दूसरे की खिंचाई मे लगे ही थे… कि एक लगभग 70-75 साल की माताजी कुछ पैसे मांगते हुए मेरे सामने हाथ फैलाकर खड़ी हो गईं .. उनकी कमर झुकी हुई थी ,.चेहरे की झुर्रियों मे भूख तैर रही थी ..आंखें भीतर को धंसी हुई किन्तु … Read more

एक विद्वान साधु

एक विद्वान साधु थे जो दुनियादारी से दूर रहते थे। वह अपनी ईमानदारी,सेवा तथा ज्ञान के लिए प्रसिद्ध थे। एक बार वह पानी के जहाज से लंबी यात्रा पर निकले। उन्होंने यात्रा में खर्च के लिए पर्याप्त धन तथा एक हीरा संभाल के रख लिया । ये हीरा किसी राजा ने उन्हें उनकी ईमानदारी से … Read more

तुम उजड़ जाओ…और तुम बसे रहो

सफर में सामने की बर्थ पर एक सरदारजी बैठे थे। सरदारजी से दोस्ती हुई, विभिन्न मुद्दों पर बातें होने लगीं, राजनीति, समाज, राज्य होते हुए बात धर्म तक पहुंची। बातचीत में सरदारजी ने गुरुनानक देव से संबंधित एक रोचक कहानी सुनाई, जो अत्यंत प्रेरणादायी होने के साथ गहरे अर्थों वाली है। कहानी कुछ इस तरह … Read more

जब दुनिया में आपदा आयी थी तो केन्या ने कुछ नही किया

केन्या के पास मेडिकल ऑक्सीजन नही थी, रेमेडेसिविर इंजेक्शन नही थे … अनाज था … उसने अनाज ही भेज दिया । वजह सिर्फ ये थे कि इस मुश्किल घड़ी में वो भारत के साथ खड़ा रहना चाहता था… ऑक्सीजन नही तो अनाज ही सही । कल को जब इतिहास लिखा जायेगा तो कोई ये तो … Read more