थौड़ा समय निकाल कर एक बार देख लेते

कल सुबह से ही एक मशीन ने परेशान कर रखा था..!! अब जाकर ठीक हुई..!! मै दरअसल हथौड़ा छाप इंजिनियर हूं, मैकेनिकली बहुत स्ट्रॉंग… लेकिन करत-करत अभ्यास के कम्पयूटराईज्ड, PLC मशीनो के सिस्टम फॉल्ट्स से भी उलझ लेता हूं..!!

खैर.. यहां बात कुछ ओर है..

2014 मे जब गुड़गांव की एक कंपनी मे काम करता था तो एक दिन मुझे अननोन नंबर से फोन आया…

पवन जी बोल रहे हैं..??

जी बोल रहा हूं..

सर मेरा नाम फलां है..और मै “उद्योग विहार” की फला कंपनी से मेन्टेनैन्स मैनेजर बोल रहा हूं.. मुझे किसी ने रेफरन्स दिया कि आप “प्लाज्मा कटींग मशीन” के बारे बढिया जानते हैं, हमारे पास एक अमेरिकन मशीन है जिसमे कुछ फॉल्ट है, हमने पूरी कोशिश कर ली .. लेकिन नहीं समझ आ रहा कुछ..!!

आप ..थौड़ा समय निकाल कर एक बार देख लेते..!!

जैसे वकील का दोस्त वकील, डॉक्टर का दोस्त डॉक्टर..कुछ वैसे ही हम मेन्टेनैन्स वालों को एक दूसरे के प्रति सहानुभूती रहती है..!!

मैने कहा ठीक है, मै शाम को छ: बजे के बाद आता हूं..!!

जब मै वहां पहुंचा तो भाई साहब मेरा ही इंतजार कर रहे थे..!!

मशीन के पास पहुंचे..काफी पुराना NC कंट्रोल्ड मशीन थी..विदाउट स्क्रीन..!!

मैने अपना काम शुरु किया..

भाईसाहब स्क्रू-ड्राईवर का सेट मंगवा लीजिये..

ठीक है..अभी लाता हूं..

भाईसाहब..मल्टी-मीटर चैये..

ठीक है..अभी लाता हूं.. फिर “एलन-की” सैट..
फिर स्पैनर…

हर बार भाईसाहब..खुद जाते..टूल्स लेकर आते..

मैने हैरान होकर..पूछा..आपके सारे मेन्टेनैन्स वाले मातहत चले गये क्या..??

वो धीरे से मेरे कान मे फुसफुसाए..ये दो बंदे मेन्टेनैन्स वाले ही हैं..मेरे अंडर मे..!!

तो फिर ये हैल्प क्यों नहीं कर रहे..??

जी.. यहां यूनियन है…

तो क्या ..कुछ भी काम नहीं करेंगे..??

अर्रररे..छोड़ो सर..मै हूं ना आपको जो चाहिये मुझे बता दें..!!

मुझे भयंकर गुस्सा आ रहा था..!!

जब वो भाई साहब कुछ लेने गये तो मैने बगल मे खड़े उन दो बंदो से शिकायती लहजे मे कहा..तुम्हारा बॉस दोड़ रहा है और तुम लोग तमाशा देख रहे हो..??

एक बंदा अकड़ कर बोला..

सर जितना पैसा मिलता है..उतना काम हम कर देते है.!!

जैसे..? क्या काम करते हो..?

डेली रूटीन चैक..कर लेते है बस मशीनो का..!!

फिर..कोई मेजर फॉल्ट आ जाये तो..ट्रबलशूटींग कौन करता है..??

बड़ी ढीठता से दूसरा बंदा..दांत निकाल कर बोला..आप जैसा कोई आ जाता है..!!

अर्रररे..भले आदमी..अपनी नॉलेज बढाने के लिये ही थौड़ा काम कर लिया कर..!!

तू इलैक्ट्रीकल का बंदा है ना..जरा इस टर्मिनल्स का रजिस्टैन्स चैक करके बता..देखें तुझे कितना ज्ञान है.??

किससे करूं सर..??

बस्स.. इसिलिये कह रहा हूं..इतना निकम्मा पन, यूनियन की आड़ मे ठीक नहीं..अपने खुद के ज्ञानवर्धन के लिये ही थौड़ा काम कर लिया कर..!!

कल को अगर ऐसी कंपनी मे पहुंचा.. जहां यूनियन नहीं हुई तो.?

और..अगर कहीं मेरे जैसा सीनियर मिल गया तो..

धतूरा बणा देगा तेरा..!!

उसको..शर्म आ गई..!! फिर वो मेरी मदद को आ गये दोनो..!!

नॉर्मली मै हमेशा ..काम अपने ही हाथों से करना पसंद करता हूं लेकिन अगले तीन घंटे तक सारा काम उनसे ही करवाया..!!

रात के दस बज गये..काम निबटाते..!! भाईसाहब ने बडा वाला थैंक्यू बोला.. डिनर के लिये पूछा.. लेकिन मैने मना कर दिया..!!

लौटते वक्त संतुष्टी थी..मशीन ठीक होने की नहीं..

दो ऐसे मुर्खों को सही लाईन पर लाने की, जो अपने अधिकारों की सुरक्षा के लिये बनाई गई युनियन का नाजायज फायदा उठातें है..वो नहीं जानते कि, खुद का कितना बड़ा नुकसान करतें हैं..!!!

एंप्लॉयर..हमे काम करने के पैसे देता है..तो काम करो ना भाई.. नहीं जमता तो दूसरी नौकरी ढूंढो…

अपनी ही आत्मा से क्या दगा करना..??

Share Post:

About Author

admin

Recommended Posts

No comment yet, add your voice below!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *